Loading...

गुरुवार, मार्च 27, 2014

सूर्य और मंगल मोदी का कल्याण कर सकते हैं

इस सप्ताह २५ मार्च से मंगल ग्रह तुला राशि छोड़  अगली  राशि में वक्री बनेगा. पृथ्वी तत्व की कन्या राशि में आये इस परिवर्तन का प्रभाव अगले माह से शुरू हो रहे लोकसभा चुनावों में दिखाई देगा |  मंगल ग्रह के अनुरूप उग्रता वातावरण में दिखाई देगी |  शक्ति का स्वामी मंगल युवा वर्ग को  जुलाई तक गतिशील रखेगा | उग्र प्रदर्शन, दंगे तथा धमाल का अधिपत्य रहने से इस बार चुनाव कम शांतिपूर्ण तथा माहौल युद्धमयी रहेगा |  प्राकृतिक विपदा भी इस दौरान
घट सकती है |

इसी माह सूर्य ग्रह ने गुरु के घर की मीन राशि में प्रवेश किया है और वहाँ १४ अप्रैल तक रहेगा | मीन राशि का सूर्य  वृषभ, कर्क, सिंह, वृश्चिक  तथा मकर राशि के जातकों को शुभ फल देने वाला होगा | इस दौरान इन राशियों के जातकों को कार्यस्थान में सफलता मिलेगी | इस दौरान ये जातक जीवन में उत्साह एवं स्फूर्ति का अनुभव करेंगे |

मीन राशि का सूर्य  मेष, मिथुन, एवं कुम्भ राशि के जातकों से अपव्यय करवाएगा, कामकाज में विलम्ब अपयश का कारण बन सकता है |  शेष राशियों के लिए ये परिवर्तन मध्यम फल देने वाला रहेगा |

नरेन्द्र मोदी और राहुल गाँधी दोनों वृश्चिक राशि वाले है जबकि केजरीवाल वृषभ राशि के हैं और मीन का सूर्य इन तीनों को  मदद करेगा | लेकिन मंगल मोदी को अन्य दो के मुकाबले अतिरिक्त फायदा करवाता दिखाई पड़ रहा है |

मोदी का लग्न तुला है इसलिए मंगल ग्यारहवां होने से पदोन्नति का कारक बन सकता है | जबकि सिंह लग्न की कुंडली वाले राहुल गाँधी के लिए कई बार खिसियाने के अवसर आयेंगे |  अरविन्द केजरीवाल की जन्म राशि वृषभ से गोचर का मंगल दसवें स्थान पर होने से मेहनत के अनुरूप फल प्रदान नहीं करेगा | इस दौरान इनके कुछ करीबी साथ छोड़ सकते हैं | अनायास चिंता और शारीरिक कष्टों का सामना भी करना पड़ सकता है |

ग्रहों की स्तिथि इंगित करती है कि जो नेता युवावर्ग को अपने पक्ष में रखेगा वह १६ मई को सर्वाधिक लाभ में रहेगा |

Other Posts :





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें